कालसर्प दोष का विवाह पर प्रभाव

काल सर्प दोष कुंडली की एक ऐसी ग्रहो की स्थिति है जिससे व्यक्ति के भाग्य में दुर्भाग्य सकता है। काल अर्थात समय और सर्प अर्थात सांप और दोष अर्थात त्रुटि। इस स्थिति में व्यक्ति की कुंडली में केतु और राहू उसके पिछले जन्मो के कर्म दिखाता है। ऐसे में यदि व्यक्ति की कुंडली में जितने भी ग्रह हैं वो राहू और केतु के बीच हो तो उस योग को काल सर्प योग कहते हैं। जब ज्योतिषी किसी की कुंडली का विश्लेषण करता है तो वो काल सर्प योग तो नही है ये भी चेक करते है। वो चेक करते है कि व्यक्ति के सभी ग्रह कहा कहाँ है।कालसर्प दोष का विवाह कालसर्प योग तब बनता है,  उदाहरण के लिए जब राहू किसी व्यक्ति की कुंडली में पहले घर में विराजित हो और केतु ग्रह सातवे घर में और बाकी सभी ग्रह अक्ष के लेफ्ट साइड अर्थात बाईं ओर बैठे हों। ये विपरीत काल सर्प योग है।

क्या आप ऑनलाइन सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषी की तलाश कर रहे हैं? हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी द्वारा ज्योतिष परामर्श के लिए अभी संपर्क करें।

जिनकी कुंडली में ये दोष होता है उनके प्रेम विवाह करने की इच्छा ही रह जाती हैं विवाह होने में समस्या आती हैं ।  यदि विवाह हो भी जाता है तो दोनों के बीच अविश्वास, धार्मिक  मतभेद या मनमुटाव सकते है।  राहू और केतु की ऐसी स्थिति का एक परिणाम असफल और दुःख भरा विवाह हो सकता है। इस दोष के कारण पति और पत्नी के बीच बहुत तनाव और मुश्किलें पैदा हो जाती हैं जिस वजह से उनका वैवाहिक जीवन दुष्कर हो जाता है। शादी के बाद ऐसी समस्याओ से बचने के लिए काल सर्प दोष निवारण की पूजा की जाती है। विवाह से जुडी कई परेशानियाँ आती हैं। कालसर्प योग इतना प्रभावकारी है की इससे विवाह ख़त्म हो जाते हैं। ज्योतिष अनुसार अगर कालसर्प दोष के निवारण के लिए पूजा कराई जाए तो इसके परिणाम 42 साल तक भुगतने पड़ते हैं। ये योग उनकी सफलताओ के बीच बाधाएं लाता रहता है। इसदशा को समय समय और सही करने के लिए उपाय करते रहना चाहिए।संतान होने के विषय में परेशानी आती है। 

कालसर्प दोष के अन्य प्रभाव

  •  काल सर्प दोष का किसी कुंडली में होने से कई खतरनाक परिणाम होते हैं। जैसे कई लोग हमेशा आर्थिक स्थिति और सेहत से जुडी परेशानी झेलते रहते हैं। किसी किसी पर तो इस दोष का भयावह और खतरनाक प्रभाव होता है।
  •  जिनकी कुंडली में ये दोष है वो जीवन भर अजीब सी चिंता और बैचनी महसूस करता है।
  •  कड़ी मेहनत और निरंतर प्रयास और समर्पण के साथ कार्य करने पर भी सफलता नही मिलती।
  •  घर की आर्थिक स्थिति ऊपर नीचे होती रहती है।
  •  परिवार में कोई प्रियजन बहुत बीमार रहने लगता है।
  •  कई अप्रत्याशित दुर्घटनाएं हो जाती हैं।
  •  परिवार में सदस्यों के बीच झगडे होने लगते हैं।
  • परिवार में किसी सदस्य की अप्रत्याशित मौत की आशंका होती है।
  • परिवार में कोई कोई दुःख और परेशानी बनी रहती है।
  • कालसर्प दोष की वजह से व्यक्ति को अपने जीवन में अनेको कष्टदायक परिणाम भुगतने पड़ते हैं।
  •  पैसो की कमी से और स्वास्थ्य से सम्बन्धी परेशानियों के साथ साथ दुखी और कष्टदायी वैवाहिक जीवन बीतता है।

यह भी पढ़ें:- जाने आपकी हथेली पर खिची ‘विवाह रेखा’ क्या कहती है

कालसर्प दोष के अन्य प्रभाव

 काल सर्प दोष का किसी कुंडली में होने से कई खतरनाक परिणाम होते हैं। जैसे कई लोग हमेशा आर्थिक स्थिति और सेहत से जुडी परेशानी झेलते रहते हैं। किसी किसी पर तो इस दोष का भयावह और खतरनाक प्रभाव होता है। जिनकी कुंडली में ये दोष है वो जीवन भर अजीब सी चिंता और बैचनी महसूस करता है।

  •  कड़ी मेहनत और निरंतर प्रयास और समर्पण के साथ कार्य करने पर भी सफलता नही मिलती।
  •  घर की आर्थिक स्थिति ऊपर नीचे होती रहती है।
  • परिवार में कोई प्रियजन बहुत बीमार रहने लगता है।
  •  कई अप्रत्याशित दुर्घटनाएं हो जाती हैं।
  •  परिवार में सदस्यों के बीच झगडे होने लगते हैं।
  •  परिवार में किसी सदस्य की अप्रत्याशित मौत की आशंका होती है।
  • परिवार में कोई कोई दुःख और परेशानी बनी रहती है।
  •  कालसर्प दोष की वजह से व्यक्ति को अपने जीवन में अनेको कष्टदायक परिणाम भुगतने पड़ते हैं।
  •  पैसो की कमी से और स्वास्थ्य से सम्बन्धी परेशानियों के साथ साथ दुखी और कष्टदायी वैवाहिक जीवन बीतता है।

सर्वश्रेष्ठ वैदिक विज्ञान संस्थान (एस्ट्रोलोक) से ज्योतिष ऑनलाइन सीखें जहाँ आप विश्व प्रसिद्ध ज्योतिषी श्री आलोक खंडेलवाल से ज्योतिष सीख सकते हैं। इसके अलावा वास्तु पाठ्यक्रम, अंकशास्त्र पाठ्यक्रम, हस्तरेखा पढ़ना, आयुर्वेदिक ज्योतिष, और बहुत कुछ प्राप्त करें। निःशुल्क ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें:- हथेली में मित्र रेखा का स्थान व इससे जुड़े कुछ रोचक तथ्य !