क्या है आयुर्वेद में मुहांसों का इलाज

हम सब खूबसूरत दिखना चाहते हैं लेकिन आजकल की व्यस्त ज़िन्दगी और प्रदूषण भरे वातावरण और गलत खान पान की वजह से चेहरा में कई स्किन प्रॉब्लम होने लगती है और इनमें सबसे ज्यादा अगर कोई स्किन प्रॉब्लम होती है तो वो है एकने और मुहांसे। ये परेशानी महिलाओं को ज्यादा होती है और शायद फर्क भी उन्हें ज्यादा पड़ता है क्योकि उनके लिए सुंदर और साफ़ चेहरा बहुत जरूरी है।

क्या आप ऑनलाइन सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषी की तलाश कर रहे हैं? हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी द्वारा ज्योतिष परामर्श के लिए अभी संपर्क करें।

खून में गंदगी होने से भी स्किन से जुड़ी प्रॉब्लम होने लगती है। मुहांसे चेहरे की सुन्दरता में एक दाग की तरह है जो चेहरा और फीचर सुंदर होने पर भी सुंदर नहीं लगते। आज की पोस्ट में हम आपको कुछ कारगर आयुर्वेदिक टिप्स बताने वाले हैं जिन्हें अपनाकर आप अपनी इस परेशानी से छुटकारा पा सकते है ।

एक्ने का इलाज/ मुहांसे का इलाज/ Acne Treatment

स्किन एक्सपर्ट के अनुसार यदि आप मुहांसों को जड़ से हमेशा के लिए ख़त्म करना चाहते हैं और बेदाग़ चेहरे आपका सपना है तो नीचे बताए रूटीन को अपनी आदत बना ले।

  • ऐसा नहीं है कि सिर्फ ऑयली स्किन वालो को ही मुहांसे होते हैं। हर स्किन में ये परेशानी हो सकती है। इसकी शुरुआत खून के साफ़ नही होने से होती है। मुहांसे के पीछे और भी कारण हो सकते है जैसे हार्मोनल इंबैलेंस। ये महिलाओं को ज्यादा होता है जिसे वो नजर अंदाज़ कर देते हैं। इसी कारण महिलाओं को बार बार मुहांसे होने लगते हैं। आपको एक्सपर्ट से सलाह करके इलाज करना चाहिए।
  • आप हेल्दी डाइट, योग और एक्सरसाइज से भी इस परेशानी को सही कर सकते है। लेकिन यदि मुहांसे किसी ब्लड में ख़राबी की वजह से हो रहे हैं तो आपको अपनी आदतों में बदलाव लाना होगा। इससे आप मुहांसों को बार बार आने से रोक पाएँगे।
  • यदि आप भी मुहांसों से छुटकारा पाना चाहते है तो आयुर्वेदिक एक्सपर्ट से मिले। वो आपको सही इलाज बताएँगे और आपको कुछ आयुर्वेदिक टिप्स भी देंगे।उनके बताए टिप्स आपके ब्लड डिसऑर्डर को ठीक कर देंगे और आपका चेहरा खिल जाएगा।
  • आजकल के बच्चे बहुत कम पानी पीते हैं। पानी भी स्किन को अंदर से हेल्दी और ग्लोविंग बनाता है। जितना हो सके साफ़ पानी पिए। आपके मुहांसे आना बंद हो जाएगे।
  • भोजन में वो चीजे खाए जो आसानी से पच जाए न कि हैवी खाना जिसको पचाने में बहुत समय लगे।
  • डाइट में तेज मसालेदार और ज्यादा मीठा खाना और चटाकेदार नमकीन स्नैक्स खाना छोड़ दें। अगर बहुत पसंद है तो कभी कभी खा सकते है।
  • बाहर का जंक फूड खाने की बजाए हल्का और घर का बना खाए। घर का खाना शुद्ध होता है और सेहत के लिए और आपकी स्किन के भी अच्छा होता है। जितना हो सके हरी सब्जियों खाए।
  • रोज़ 7 घंटे की नींद ज़रुर ले। नींद आपके लिए दावा का काम करेगी और आपकी सेहत और आपकी स्किन दोनों को स्वस्थ रखेगी।
  • यदि आपको आपके काम से स्ट्रेस होता है तो रिलैक्स होने की तकनीक इस्तेमाल करे।
  • कोई भी केमिकल युक्त प्रोडक्ट अपने चेहरे पर इस्तेमाल न करे। साफ़ करने के लिए सिर्फ नेचुरल तरीका अपनाएं।
  • जब भी बाहर से आए अपने चेहरे को धोने की आदत डाले। रात को सोते समय भी चेहरा धोकर सोए।

यह भी पढ़ें:- अस्थमा क्या होता है, इसके लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज

मुहांसे ठीक करने के लिए इस्तेमाल किए जाने कुछ आयुर्वेदिक हर्ब

  • हल्दी
  •  गिलोय
  •  सारिवा
  • खदिर
  •  गुलाब
  •  मंजिष्ठा

​आयुर्वेदिक औषधियां

भारत में आयुर्वेद का इस्तेमाल कई सालों से स्किन को ट्रीट करने के लिए किया जा रहा है। आयुर्वेद में कई ऐसी दवाइयां है जो मुहांसे ठीक कर देता है। आजकल कई कंपनियां आयुर्वेदिक प्रोडक्ट बनाती हैं लेकिन इन प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने से पहले आयुर्वेदिक एक्सपर्ट से परामर्श जुरूर करे।

कुछ फेमस आयुर्वेदिक औषधियां निम्न हैं-

  • त्रिफला चूर्ण
  • खदिरारिष्ट
  • महामंजिष्ठादि कषाय
  • कैशोर गुग्गुल
  • आरोग्यवर्धिनी वटी
मुंहासों के लिए आयुर्वेदिक उपाय

ऐसा कई बार होता है कि मुहांसे ठीक हो जाते हैं लेकिन फिर भी वो बार बार निकलने लगते हैं ऐसे में डॉक्टर को दिखाना जरुरी हो जाता है क्योंकि वो आपको इसके पीछे के असली कारण बता पाएंगे और उसके हिसाब से आपको कोई आयुर्वेदिक दवाई और क्रीम लगाने को देंगे। खून साफ़ करने के लिए वो आपको कुछ दवाइयाँ देंगे और आपको कोई डाइट रुटीन भी फॉलो करने की सलाह देंगे। विज्ञापन देखकर कभी भी कोई दवाई या प्रोडक्ट का इस्तेमाल न करे, चाहे वो आयुर्वेदिक ही क्यों  न हो। दवा कोई भी हो सिर्फ एक्सपर्ट स्किन डॉक्टर को दिखाकर ही लें। गलत दवाइयाँ लेने से आपको फायदे की जगह नुकसान होने लगेगा।

सर्वश्रेष्ठ वैदिक विज्ञान संस्थान (एस्ट्रोलोक) से ज्योतिष ऑनलाइन सीखें जहाँ आप विश्व प्रसिद्ध ज्योतिषी श्री आलोक खंडेलवाल से ज्योतिष सीख सकते हैं। इसके अलावा वास्तु पाठ्यक्रम, अंकशास्त्र पाठ्यक्रम, हस्तरेखा पढ़ना, आयुर्वेदिक ज्योतिष, और बहुत कुछ प्राप्त करें। निःशुल्क ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें:- जानें थायरॉइड कम होने या बढ़ने के कारण व इसका आयुर्वेदिक इलाज