अवसाद और डिप्रेशन को कंट्रोल करते हैं ये आयुर्वेदिक उपाय

आजकल के स्ट्रेस भरे वातावरण में कई लोग डिप्रेशन के दलदल में फसते जाते हैं और वो उससे उभरने के लिए एलोपेथिक दवाइयां लेने लगते हैं। वो दवाइयां असर करती हैं लेकिन उनसे कई नुक्सान भी होते हैं। यदि व्यक्ति कुछ घरेलु उपाय को अपनाएं और आयुर्वेदिक उपचार करे तो उसको डिप्रेशन से बाहर आने में बहुत मदद मिलेगी। डिप्रेशन का शिकार सिर्फ पुरुष ही नही बल्कि आजकल बच्चे और महिलाएं भी होने लगी हैं। बच्चे भी आजकल कम्पटीशन के चलते हमेशा स्ट्रेस में रहते हैं और कई बच्चे डिप्रेशन में चले जाते हैं। डिप्रेशन को कभी भी हल्के में नही लेना चाहिए। 

क्या आप ऑनलाइन सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषी की तलाश कर रहे हैं? हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी द्वारा ज्योतिष परामर्श के लिए अभी संपर्क करें।

आज की इस पोस्ट में हम आपको डिप्रेशन के लक्ष्ण पहचानकर इससे उभरने के लिए आयुर्वेदानुसार कुछ उपाय बताने वाले है, इसलिए पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े।

डिप्रेशन के लक्षण

  • जब भी कोई व्यक्ति किसी मुसीबत या परेशानी के लिए खुद को दोष देने लगता है और उसे लगता है परेशानी का मुख्य कारण और अपराधी वो है तो इसका अर्थ है व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार होते जा रहा है। ऐसा विचार उनके मन में आने के बाद वो हर परेशानी के लिए खुद को कोसने लगते हैं और कई बार सबको परेशानियों से छुटकारा दिलाने का सोचकर कुछ गलत कदम उठा लेते हैं। वो सोचते हैं वो एक मुसीबत हैं और अगर वो ही नही होंगे तो सारी परेशानियाँ दूर हो जाएगी। लेकिन ऐसा नही है। ये सब ख्याल डिप्रेशन के कारण किसी व्यक्ति के मन में आते हैं।
  • जो व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार होते हैं उनको थकावट महसूस होती है और उनमें ऊर्जा की भी कमी होती है। उन्हें छोटे छोटे काम करने के लिए भी बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है।
  • कुछ डिप्रेशन के मरीजो को नींद नही आती है और कुछ को बहुत ज्यादा नींद आती है। दोनों ही लक्ष्ण डिप्रेशन के हैं।
  • कुछ लोगो को डिप्रेशन में बहुत कम भूख लगती है और कुछ लोगो की भूख बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। 
  • डिप्रेशन का शिकार व्यक्ति हमेशा ही चिंता में डूबा रहता  है और वो बेचैनी  और उत्तेजना भी महसूस करता है।
  • ऐसे व्यक्ति कुछ भी फैसला करने में बहुत टाइम लगाते हैं और कब बार सो सिर्फ सोचते ही रह जाते है। कई बार मन की बात किसी को बोले या न बोले सोचने में ही बहुत समय लगा देते हैं।
  • कुछ डिप्रेशन के शिकार बिना बात के गुस्सा करने लगते हैं और कई तो बिलकुल चुप ही हो जाते हैं और किसी भी बात पर रियेक्ट ही नही करते। बस हमेशा दुखी ही रहते हैं।

डिप्रेशन के आयुर्वेदिक उपचार

  • तेल मालिश –

आप ये उपाय का नाम सुनकर सोच रहे होंगे कि डिप्रेशन का इलाज तेल मालिश कैसे हो सकता है। हम सही कह रहे हैं। तेल मालिश डिप्रेशन का इलाज है। मालिश करने  से रोगी को बहुत आराम मिलता है। जब रोगी की मालिश की जाती है तो उसका शरीर और मांसपेशियां रिलैक्स होती है और उनका मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य सुधरता है। अगर डिप्रेशन के रोगी की चंदन, अश्वगंधा और बाला के तेल से मालिश की जाए तो बॉडी के अच्छे  होर्मोनेस जैसे डोपामाइन और सेरोटोनिन शरीर में बढ़ने लगते हैं और उससे मन अच्छा हो जाता है और व्यक्ति को अच्छी नींद भी आने लगती है।

यह भी पढ़ें:– पेट की चर्बी बढ़ने के कारण व इसे कम करने के सरल उपाय!

  • योग 

योग भारत के पूर्वजो की वो विरासत और आशीर्वाद है जिसका फल सालो उन्होंने उठाया और हमे और आने वाले जनरेशन को इसके उपयोग समझाकर उन्हें भी योग करने के लिए प्रेरित किया। उनके अनुसार और विज्ञान के अनुसार यदि व्यक्ति नियमित रूप से योग करे और सही तरीके से करे तो वो डिप्रेशन से बाहर आ सकता है क्योकि योग व्यक्ति को सिर्फ शारीरिक रूप से ही नही बल्कि मानसिक रूप से भी तंदुरुस्त बनाता है। कई रिसर्च में ये साबित हुआ है कि योगासन, प्राणायाम और ध्यान व्यक्ति को निराशा, अवसाद और डिप्रेशन से बाहर निकाल देंगे। योग के साथ साथ यदि वो सुबह रोज सैर पर जाए तो भी सुबह की ताज़ी और फ्रेश ऑक्सीजन उसके दिमाग को रिलैक्स कर देगी।

  • हल्दी और दूध-

आयुर्वेद के अनुसार हल्दी उस डिप्रेशन के लिए उपयोगी है जो मौसमी है अर्थात ये तब काम आता है जब व्यक्ति अपने आस पास के वातावरण के कारण डिप्रेशन महसूस करता है या उदास हो जाता है। ऐसा व्यक्ति यदि थोड़ी सी हल्दी दूध में मिलकर पी ले तो उसको अच्छा फील होने लगेगा और सकारात्मक महसूस करेगा। इससे पूर्ण रूप से लाभ लेने के लिए ये उपाय कम से कम एक सप्ताह तक करना चाहिए।

  • अच्छी नींद 

नींद का हमारी शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर बहुत असर होता है। जिनकी नींद अच्छी नही होती है और नींद पूरी नही हो पाती उनके दिमाग और मन पर बहुत बुरा असर

पड़ता है। इसलिए जितना हो सकते रात को जल्दी सोने की कोशिश करे और सुबह जल्दी जागे। सुबह जल्दी जागने से रात को जल्दी नींद आने लगेगी। आपको उपरोक्त उपाय अपनाने से क्या लाभ हुए हमे कमेंट करने जरुर बताए और यदि आप किसी एक्सपर्ट आयुर्वेदिक डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहते हैं तो हमसे सम्पर्क करे।

सर्वश्रेष्ठ वैदिक विज्ञान संस्थान (एस्ट्रोलोक) से ज्योतिष ऑनलाइन सीखें जहाँ आप विश्व प्रसिद्ध ज्योतिषी श्री आलोक खंडेलवाल से ज्योतिष सीख सकते हैं। इसके अलावा वास्तु पाठ्यक्रम, अंकशास्त्र पाठ्यक्रम, हस्तरेखा पढ़ना, आयुर्वेदिक ज्योतिष, और बहुत कुछ प्राप्त करें। निःशुल्क ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें:- बुखार उतारने में मददगार है यह आयुर्वेदिक औषधि