--------------------------------------------------------------------------------------------

Learn what’s best for you

सावन के सोमवार का महत्व

सावन के सोमवार का महत्व

चैत्र के पांचवे महीने को सावन का महीना कहा जाता है, सावन के महीने का हिन्दू धर्म मे विशेष महत्व है। ये माह इस वर्ष 28 जुलाई 2018 से प्रारंभ होकर रक्षाबंधन के दिन 26 अगस्त को समाप्त होगा। इस माह में 4 सोमवार पड़ेंगे जो 30 जुलाई, 6 अगस्त, 13 अगस्त एवम् 20 अगस्त को होंगे। शिव पुराण के अनुसार भगवान शिव ने सावन के महीने में माता पार्वती की तपस्या से खुश होकर उन्हें पत्नी के रूप में स्वीकार किया था। इसलिए भगवान शिव जी अपने भक्तों की मनोकामनाये पूरी करते है। मान्यताओ के अनुसार सावन के महीने में व्रत रखने वाली कन्याओ को भगवान शिव के आशीर्वाद से मनपसंद जीवनसाथी प्राप्त होता है। इस माह भगवान शिव का रुद्राभिषेक करने से पद, प्रतिष्ठा,ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। बहुत सी कन्याए सावन के पहले सोमवार से 16 सोमवार के व्रत की शुरुआत करती है। जो कि शुभ फलदायक माना जाता है। व्रत कैसे करें :- ये सोमवार का व्रत पूर्ण दिवस का होता है, जो सुबह से शाम तक चलता है। रात्रि में एक बार भोजन किया जाता है। स्नानादि नित्य करने के पश्चात भगवान शिव का दूध व जल से या पंचामृत से अभिषेक किया जाता है।तथा बेलपत्री, धतूरा, अकुआ के फूल चढ़ाये जाते है क्योंकि यह भगवान शिव को पसंद है। उसके पश्चात सोमवार व्रत कथा की जाती है। शाम को प्रदोष बेला में फिर से शिव जी की पूजा करने के पश्चात व्रत को खोल जाता है। ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा, ग्वालियर मोब. 9302325222 If you are interested in writing articles related to astrology then do register at – https://astrolok.in/my-profile/register/ or contact at astrolok.vedic@gmail.com

comments

  • Glennbaica
    2019.07.16

  • GregoryDet
    2019.07.17

  • Robertseask
    2019.07.18

Leave a reply

Let's Chat
Next Batch of Numerology Starting from January 2020