Learn what’s best for you

राहु-केतु राशि परिवर्तन : आपके लिए कैसा होगा आने वाला समय

राहु-केतु राशि परिवर्तन : आपके लिए कैसा होगा आने वाला समय

राहु-केतु राशि परिवर्तन : आपके लिए कैसा होगा आने वाला समय

23 सितंबर 2020 को राहु वृषभ राशि और केतु वृश्चिक राशि में गोचर करेंगे। यह गोचर 18 महीने का होगा यानी राहु-केतु 12 अप्रैल, 2022 तक इन राशियों में रहेंगे। आइए, जानते हैं कि 12 राशियों पर इस गोचर का क्या प्रभाव पड़ेगा।

मेष : इस राशि के लिए शुरुआती समय परेशानी वाला रहेगा। आमदनी पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। स्थान परिवर्तन के आसार हैं। प्रोफेशन में भी बदलाव हो सकता है। परिवार से अलग रहना पड़ सकता है। ज्यादा धन की चाह में आप लोन यानी उधार ले सकते हैं। इस समय मानसिक परेशानी का सामना करना पड़ सकता है जिसके परिणामस्वरूप आप ध्यान-प्राणायाम का रुख कर सकते हैं।
उपाय : किसी मित्र या अधिकारी से लोन लेने से बचें। धन को लेकर अहं आ सकता है। इसलिए सतर्क रहें। अपने बारे में बढा-चढ़ा कर बात मत करें वरना शत्रु पैदा हो सकते हैं। दुर्गा मां और विष्णु जी की पूजा करें।

वृषभ : राहु डेढ़ साल वृषभ राशि में रहेंगे। इस राशि के स्वामी शुक्र हैं और वह राहु के मित्र भी हैं। इस राशि के जातकों के लिए यह समय कार्यक्षेत्र में झंडे गाडऩे वाला समय है। अचानक मान-सम्मान और यश बढ़ेगा। शुरुआती समय में ध्यान-साधना में कुछ परेशानी रहेगी लेकिन बाद में समय अनुकूल होता जाएगा। जातकों की इच्छाओं और लालसाओं में बढ़ोतरी होगी।
उपाय : वृषभ राशि के जातकों को अपनी इच्छाओं पर नियंत्रण रखना होगा। इसके लिए जातक ऊं नम: चण्डिकाय का जाप कर सकते हैं।

मिथुन : इस राशि के जातकों के लिए समय परेशानी वाला रहेगा। अनायास ही खर्च बढ़ेगा। नुकसान और चोरी की आशंका है। बचत कम होती जाएगी। सेहत पर भी बुरा असर हो सकता है। निर्णय लेने की क्षमता कमजोर होगी। स्थान परिवर्तन हो सकता है। घर से बाहर या विदेश भी जा सकते हैं।
उपाय : गरीबों को भोजन कराएं। आमदनी का कुछ हिस्सा अवश्य दान करें। जरूरतमंदों की दवाई का खर्च भी उठा सकते हैं। दुर्गा देवी और भगवान विष्णु की पूजा करें।  

कर्क : इस राशि के लिए अच्छा समय है। इस दौरान आय के स्रोत बढ़ेंगे और लंबित कार्य पूरे होंगे। इच्छाओं में बढ़ोतरी होगी। खूब आमदनी होगी लेकिन सावधानी बरतें कि कहीं गलत तरीके से पैसा तो नहीं कमा रहे। वैवाहिक जीवन के लिए समय अनुकूल नहीं है। जीवनसाथी से मनमुटाव की आशंका है। बिजनेस पर भी बुरा प्रभाव पड़ सकता है।
उपाय : जीवनसाथी से अच्छा व्यवहार करें। उम्मीद कम रखें। गरीबों को भोजन, कंबल बांटे और दुर्गा देवी का मंत्र करें।

सिंह : इस राशि के जातकों के लिए यह समय बहुत बढिय़ा रहेगा। हर तरफ से प्रगति के अवसर मिलेंगे। बिजनेस तेजी से फैलेगा। करियर में टर्निंग प्वाइंट की संभावना है। इस समय के दौरान काम में व्यस्त रहेंगे। साथ ही, मेहनत का परिणाम बेहतरीन मिलेगा।
उपाय : इस अवधि में आपको भौतिक सुखों की लालसा रहेगा। इसलिए खुद पर नियंत्रण रखें। ऊं नमो नाराणाय मंत्र का जाप करें। साधना के लिए मां चामुंडा देवी और भौतिक सुखों के लिए भगवान विष्णु की आराधना कर सकते हैं।

कन्या : इस राशि के जातकों के लिए आने वाला समय अच्छा नहीं है। वैवाहिक संबंधों में परेशानी आ सकती है। पिता के साथ विवाद की आशंका है। साथ ही, यह समय पिता के स्वास्थ्य के लिए भी अनुकूल नहीं है। गुरु के प्रति श्रद्धा में कमी आ सकती है।
उपाय : मंत्र जाप विशेषकर गुरु पूजा करके समय बेहतर कर सकते हैं। जरूरतमंदों की सेवा करें। ऊं नम: शिवाय का पाठ करें। जातक गुरु ग्रह का मंत्र भी कर सकते हैं।

तुला : इस राशि के जातकों के लिए मंत्र-साधना का अच्छा समय है।  कुंडलिनी जागरण के लिए बेहतरीन समय है। स्थान परिवर्तन की संभावना है। विदेश यात्रा भी संभव है। साथ ही,  ज्योतिष, योग और आयुर्वेद सीखने के लिए समय अनुकूल है लेकिन इस अवधि में मानसिक परेशानी भी हो सकती है। वैवाहिक जीवन पर भी नकारात्मक असर देखने को मिल सकता है। जीवनसाथी की सेहत प्रभावित होगी।
उपाय : ऊं नम: शिवाय का पाठ करें। काली मां और भगवान विष्णु की आराधना करें। गुप्त संबंध उजागर हो सकते हैं, इसलिए संयम बरतें। लालसाओं पर काबू रखें।

वृश्चिक : इस राशि के जातकों को वैवाहिक जीवन में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। जीवनसाथी या व्यापार में धोखा मिलने की आशंका है। बुद्धि भ्रष्ट हो सकती है।  आमदनी पर बुरा प्रभाव देखने को मिलेगा। ऐसे में धन कमाने के साधनों पर विशेष ध्यान दें।
उपाय : महामृत्युंजय मंत्र और ऊं नम: शिवाय का पाठ करें। पानी ज्यादा पीएं।

धनु : राशि के जातकों को इस गोचर का मिला-जुला असर देखने को मिलेगा। प्रतिस्पर्धा में रहेंगे लेकिन शत्रु हावी नहीं हो पाएंगे। शादी, परिवार और सेहत के लिए अच्छा समय नहीं है। मानसिक परेशानी हो सकती है।
उपाय : प्रतिस्पर्धा से बचें। खानपान पर ध्यान दें। शराब का सेवन न करें। इस अवधि के दौरान गुरु का मंत्र, हनुमान चालीसा और गायत्री मंत्र का जाप करना बेहतर होगा।

मकर :  इस राशि के जातक योजनाएं बनाने में व्यस्त रहेंगे। महत्वाकांक्षांओं में बढ़ोतरी होगी और इन्हें पूरा करने के लिए शार्ट कट अपना सकते हैं। आय पर बुरा प्रभाव देखने को मिल सकता है। संतान को भी परेशानी हो सकती है।
उपाय : रुद्रं जाप, ऊं नम: शिवाय का पाठ करें। महाकाल के दर्शन करें। जंक फूड से बचें।

कुंभ : इस राशि के जातकों को सावधान रहना होगा। स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। डॉक्टर की सलाह के बिना कोई दवाई न लें। मन अशांत रहेगा। दिशा से भटक सकते हैं। विदेश जाने के लिए समय अच्छा है पर खर्च ज्यादा होगा। कार्यक्षेत्र में समस्या आ सकती है। महत्वाकांक्षांओं को पूरा करने में सफल नहीं हो पाएंगे।
उपाय : खर्च को इनवेस्टमेंट में बदल कर आप नुकसान से बच सकते हैं। रोजाना दुर्गा देवी का मंत्र करें। ऊं नम: शिवाय का पाठ करें। बुधवार या शनिवार उपवास कर समय को बेहतर कर सकते हैं।

मीन : मीन राशि के जातकों के लिए आने वाला समय काफी अच्छा रहेगा। आमदनी में बढ़ोतरी होगी, घूमने फिरने के अवसर मिलेंगे। लंबित कार्य पूरे होंगे। हालांकि नवंबर, 2020  से अप्रैल 2021 तक इच्छाओं की पूर्ति न होने के कारण थोड़ा परेशान हो सकते हैं लेकिन इसके बाद समय बेहतर होता जाएगा।
उपाय : हल्दी या चंदन का तिलक लगाएं। जूस पीएं। गुरु का मंत्र करें या गुरु से संबंधित रत्न पहनें। ऊं नम: शिवाय, विष्णु सहस्रनाम का जाप करें।

राहु-केतु राशि परिवर्तन : आपके लिए कैसा होगा आने वाला समय -- WATCH VIDEO

Transcripted by Shivani Mehta



comments

Leave a reply

Let's Chat