--------------------------------------------------------------------------------------------

Learn what’s best for you

जानिये आपकी राशि के अनुसार किस तरह मनाएं होली !!

जानिये आपकी राशि के अनुसार किस तरह मनाएं होली !!

चैत्र मास की शुरूआत रंगों के पर्व होली से होती है। 21 मार्च, गुरुवार को ये शुभ दिन है। रंगों का ज्योतिष से भी खास संबंध है। होली रंगों का त्यौहार है और रंग प्रेम के परिचायक होते हैं। इन प्यार मोहब्बत के रंगों को वही व्यक्ति स्वीकार  करता है जिन के मन में अनुराग और अपनत्व की भावना होती है। अपनी राशि के अनुसार अपने इष्ट का ध्यान कर अपने मन से सभी बुराईयों का दहन कर भविष्य की पवित्र, सुखद, शाश्वत, पापरहित और प्रेममयी होली के रंग अपने जीवन में लाने का संकल्प करें और सुनहरे भविष्य की उज्वल कामना करें। 

1.मेष : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली की पूजा करने के उपरांत मंदिर जाकर शिवालय के दर्शन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए लाल गुलाल का प्रयोग करें। 

 2.वृषभ : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत कन्या पूजन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए हल्के पीले रंग का प्रयोग करें। 

3.मिथुन : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत भगवान गणपति के दर्शन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए हरे रंग का प्रयोग करें। 

4.कर्क : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत शिव परिवार का पूजन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए सफेद कपड़े धारण करें और केवल गुलाल से ही होली खेलें। 

5.सिंह : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत भगवान सूर्य नारायण का पूजन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए गुलाल एवं मेहरून रंग का प्रयोग करें। 

6.कन्या : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत गणपति बप्पा और धन के देवता कुबेर जी के दर्शन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए टेसू रंग का प्रयोग करें। 

7.तुला : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत मां दुर्गा का पूजन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए लाल और पीले रंग का प्रयोग करें। 

8.वृश्चिक : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत भगवान गणपति और उनकी पत्नियों रिद्धि-सिद्धि का पूजन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए गुलाबी रंग का प्रयोग करें। 

9.धनु : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत भगवान दत्तात्रेय (गुरु महाराज) का पूजन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए पीले रंग का प्रयोग करें। 

10.मकर : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत भगवान श्री राम और उनके प्रिय भक्त हनुमान जी के दर्शन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए हल्का गुलाबी और पीला रंग प्रयोग में लाएं। 

11.कुंभ : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत श्री राम भक्त हनुमान जी का पूजन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए हरे और सिंदूरी रंग का प्रयोग करें। 

12.मीन : इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के उपरांत बृहस्पति देव का पूजन करें तत्पश्चात होली के रंगों में रंगने के लिए पीले रंग का प्रयोग करें।

Astrolok is one of the famous Astrology Institute based in Indore where you can learn vedic astrology through live class. Get consultancy from famous astrologers. Free platform for writing astrology articles. Visit -
https://www.astrolok.in

comments

Leave a reply

Let's Chat
Next Batch of Numerology Starting from January 2020