--------------------------------------------------------------------------------------------

Learn what’s best for you

गर्भवती महिलाएं ग्रहण के समय धयान दें

गर्भवती महिलाएं ग्रहण के समय धयान दें

27 जुलाई 2018 को सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण गुरुपूर्णिमा को शुक्रवार के दिन पड़ रहा है जो 3 घंटे 55 मिनेट तक रहेगा। भारतीय समय के अनुसार रात 11:54 से प्रारंभ होकर 3:49 तक रहेगा। ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को विशेष नियम अपनाने के लिए कहा गया है, वैसे तो समाज काफी आगे बड़ चुका है और लोग रूढ़िवादी बातो पर भरोसा नही करते लेकिन कई ऐसी मान्यताये आज भी है जिन पर लोग भरोसा करते है। गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान खास ध्यान रखने को कहा जाता है। ऐसा मन जाता है कि ग्रहण के दौरान नकारात्मक शक्तियां प्रबल हो जाती है जो पेट मे पल रहे शिशु पर बुरा असर डाल सकती है। यदि कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो इस दुष्परिणाम से बच जा सकता है। गर्भवती महिलाएं ग्रह के दौरान किसी भी नुकीली, धारदार,पैनी वस्तुए जैसे कैची,ब्लेड, चाकू या सुई का इस्तेमाल न करें। मान्यता है कि इन वस्तुओं का इस्तेमाल करने से शिशु के शरीर पर असर पड़ता है ष्षरीर का कोई अंग काट हुआ या कट का निशान पाया जाता है। जब तक ग्रहण का समय है तब तक कोई भी काम न करे। घर के खिड़की दरवाजे बंद रखे तथा घर से बाहर भी न निकले। यदि घर बाहर निकलना आवश्यक हो तो सिर पर कपड़ा बांध लें, नाभि पर गेरू का लेप लगाकर उसे कपड़े से ढक ले। चादर ग्रहण को भूलकर भी न देखे अन्यथा ग्रहण की किरणों से शिशु की आंखों को नुकसान हो सकता है, नेत्र संबधित गंभीर रिग हो सकता है। कुछ लोगो का मानना है कि ग्रहण के समय गर्भवती महिलाये पानी तक न पिएं कुछ खाये भी नही यह तक कि सोये भी नही। उस समय बैठकर मंत्रो का जाप करें ताकि ग्रह आपके शिशु को नुकसान न पहुच सके। ग्रहण के समय एक नारियल अपने पास जरूर रखे जिससे नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव उनके शिशु पर न पड़े। ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा, ग्वालियर If you are interested in writing articles related to astrology then do register at – https://astrolok.in/my-profile/register/ or contact at astrolok.vedic@gmail.com  

comments

Leave a reply

Let's Chat
Next Batch of Numerology Starting from January 2020