--------------------------------------------------------------------------------------------

Learn what’s best for you

Health- 15th July 2018 to 15th August 2018

Health- 15th July 2018 to 15th August 2018

1. मेष :- मेष राशि वाले जातकों के लिए इस महीने में जल से होने वाली बिमारियों से खतरा रहेगा |  सर्दी, खांसी, जुकाम , बुखार, विष बाधा , होने की सम्भावना बनी रहेगी | खान पान पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है | नसों से सम्बंधित बीमारी भी हो सकती है | माता के स्वास्थ्य पर ध्यान देना आवश्यक है | माता की तबियत ख़राब हो सकती है.| उपाय :- मंगलवार के दिन हनुमान जी को बूंदी का लड्ड़ू चढ़ाएं | एवं हर दिन हनुमान चालीसा का पाठ करें | 2. वृषभ :- वृषभ राशि के जातकों को शरीर में फोड़ा , फुंसी , सर्दी, जुकाम , लिवर में परेशानी होने की संभावना रहेगी | मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए ये समय काफी परेशानियों वाला रहेगा | शरीर में जलन , ह्रदय सम्बन्धी बीमारियां  , आँखों में तकलीफ होने की संभावना बानी रहेगी | स्त्री जातकों के लिए नाभि के निचे  या गर्भाशय  में विकार उत्पन्न हो सकता है | कमजोरी महसूस करेंगे | उपाय :-शुक्रवार के दिन गे को ढूढ़ से बना हुआ खीर या मिठाई खिलाएं | श्री  सूक्त  का पाठ करें | 3. मिथुन :- मिथुन राशि के जातकों के लिए ये समय काफी सावधानी बरतने का है | वहां चलते समय ध्यान दें | वाहन ज्यादा रफ़्तार में न चलाएं | अपघात होने की संभावना बानी रहेगी | सर पर चोट लग सकता है | लड़ाई झगड़े से बचें | उपाय :- माँ दुर्गा की आराधना करें | बुधवार के दिन गे को हरा चारा खिलाएं | 4. कर्क राशि :- कर्क राशि वाले जातकों के लिए कफ , वात  की तकलीफ बानी रहेगी  | अधिक काम के कारन  थकन महसूस करेंगे | मानसिक तनाव बहुत ज्यादा रहेगा |  sharir के किसी अंग में पत्थर या पेड़ से चोट लगने की संभावना  रहेगी | उपाय :- ॐ नमः शिवाय का जप करें | सोमवार को शिवलिंग पर जल अर्पण करें | 5. सिंह :- सिंह राशि के जातकों के लिए मानसिक बिमारियों का खतरा रहेगा | गुदा रोग होने की संभावना रहेगी | आंखोंमें तकलीफ होगी | आंख में फोड़ा या आँखें लाल होना | वात अथवा शूल रोग होगा | पेट में जलन की समस्या रहेगी | भूख नहीं लगना , जी  मिचलाना  , खाना का नहीं पचना इस तरह की समस्याएं होंगी | उपाय :- सूर्य को जल अर्पण करें | विष्णु मंदिर में जाएँ | 6. कन्या :- कन्या राशि के जातकों के लिए ये समाया कान के रोग का देने वाला होगा | कान में दर्द , फोड़ा ,  घाव वगैरह हो सकता है | सां लेने में तकलीफ या फेफड़े से सम्बंधित बीमारियां हो सकती हैं | नाभि के निचे पेट में दर्द  रहने की संभावना रहेगी | मानसिक रूप से परेशां रहेंगे | उपाय :- माँ दुर्गा की आराधना करें  | गाय को हरा चारा खिलाएं तथा हनुमान जी को बूंदी का लड़डू चढ़ाएं | 7. तुला :- तुला राशि के जातकों के लिए लिवर तथा किडनी से सम्बंधित बीमारियां होने की संभावना बनेगी | पीलिया रोग होने की संभावना है | मधुमेह के रोगियों के लिए समय स्वास्थ्य के ऊपर ध्यान देने का है , अर्थात वो अपने खान पान का ध्यान दें | सर्दी , जुकाम ,  कफ से पीड़ा होने की संभावना बनेगी | उपाय  :- माता लक्ष्मी की आराधना करें | 8. वृश्चिक :- वृश्चिक राशि वाले जातकों को अपघात  का भय रहेगा | मानसिक और शारीरिक दोनों तरह की पीड़ा हो सकती है   | वाहन चलाने पर ध्यान दे | पैर के निचले हिस्से में चोट या दर्द हो सकता है | गुदा रोग , पेशाब में  तकलीफ इत्यादि बीमारियां होने की प्रबल संभावना बनेगी | उपाय :-   हनुमान चालीसा का नियमित पाठ करें | 9. धनु :- धनु राशि वाले जातकों को त्वचा सम्बंधित बीमारी होने के प्रबल संभावनाएं बनेंगी | जल से होने वाली बीमारियां | कमजोरी , आँखों में तकलीफ , नाभि के निचे तकलीफ होगी | स्त्री जातकों के लिए गर्भाशय में समस्या उत्पन्न होंगी | अस्थियों से सम्बंधित बीमारियां  या टूटना  होने की संभावना रहेगी | उपाय :- भगवान विष्णु की  उपासना करें | गुरुवार के  दिन  साई बाबा या दत्ता मंदिर या  किसी गुरु के मंदिर में जाएँ | गाय को केले खिलाएं | 10. मकर :- मकर राशि वाले जातकों के लिए ये समय विशेष ध्यान देने योग है | मानसिक तनाव बहुत ज्यादा रहने की संभावना है | नसों से होने वाली बीमारियां , नसों में अकड़न , हाँथ पैर का कांपना , हाथ पैर में सूजन इत्यादि समस्याएं हो सकतीं हैं | हैजा , मलेरिया बुखार इत्यादि से परेशानी होगी | पानी  से  होने वाले तकलीफ  जलीय जीवों से खतरा रहेगा | खून  से सम्बंधित बीमारियां हो सकतीं हैं | उपाय :- हनुमान चालीसा का पाठ करें | शनिदेव को तेल चढ़ाएं | 11. कुम्भ :-  कुम्भ राशि वालों के लिए ह्रदय सम्बंधित रोग , अग्नि से सम्बंधित बीमारियां , शरीर में जलन होने की संभावना रहेंगी | ईर्ष्या की भावना बनेगी जिससे मानसिक परेशानियां बहुत ज्यादा रहेंगी | गलत कर्म करने की इच्छा होगी | रासायनिक  प्रतिक्रिया  दवाईयों या जहर से वाली शरीर को हानि पहुंचा सकती है।  पैरों में दर्द या चोट लगने की संभावना रहेंगी | सर्प दंश का भय रहेगा | उपाय :- हनुमान जी की आराधना करें | नाग देवता को ढूढ़ चढ़ाएं | 12. मीन :- मीन के जातकों को एनीमिया की तकलीफ हो सकती है | वात तथा कफ से होने वाली बिमारियों का खतरा रहेगा | आँखों में तकलीफ , मूत्र विकार ,  सामान्य और स्त्री रोग सम्बन्धी बीमारियां हो सकतीं हैं | चहरे की चमक फीका पद सकता है , शारीरिक दुर्बलता , अचानक वजन काम होने जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकतीं हैं | उपाय :- भगवान विष्णु की आराधना करें |     गाय को केला खिलाएं | केशर का तिलक लगाएं |

comments

Leave a reply

Let's Chat
Next Batch of Numerology Starting from January 2020