• +(91) 7000106621
  • astrolok.vedic@gmail.com

Learn what’s best for you

Learn Jyotish

गुप्त नवरात्रि तीन जुलाई से

गुप्त नवरात्रि 3 जुलाई बुधवार से प्रारंभ होकर 10 जुलाई बुधवार तक रहेगी।
सप्तमी तिथि का क्षय होने के कारण अष्टमी व नवमी एक ही दिन की होगी।

जिस प्रकार नवरात्रि में देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है, ठीक उसी प्रकार गुप्त नवरात्र में दस महाविद्याओं की साधना की जाती है। गुप्त नवरात्र के दौरान साधक मां काली, तारा देवी, त्रिपुर सुंदरी, भुवनेश्वरी, माता छिन्नमस्ता, त्रिपुर भैरवी, मां ध्रूमावती, माता बगलामुखी, मातंगी और कमला देवी की पूजा करते हैं।

ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा ने बताया कि नवरात्र में देवी की साधाना अधिक कठिन होती है। इन नवरात्रि में मानसिक पूजा की जाती है। रात के समय की गई गुप्त पूजा गुप्त मनोकामनाओं को पूरा करती हैं।
व्यक्ति के पास धन-धान्य, ऐश्वर्या, सुख-स्मृद्धि और शांति की कोई कमी नहीं रहती।

*नवरात्र में इन देवियों की पूजा की जाती है*
नवरात्र के पहले दिन शैल पुत्री, दूसरे दिन ब्रह्मचारिणी, तीसरे दिन चंद्रघंटा, चौथे दिन कूष्माण्डा, पांचवें दिन स्कंदमाता, छठे दिन कात्यायनी, सातवें दिन कालरात्रि, आठवें दिन महागौरी, नौवें दिन सिद्धिदात्री माता की पूजा की जाती है|

 *गुप्त नवरात्र की पूजा विधि*

जहां तक पूजा की विधि का सवाल है मान्यतानुसार गुप्त नवरात्र के दौरान भी पूजा अन्य नवरात्र की तरह ही करनी चाहिये। नौ दिनों तक व्रत का संकल्प लेते हुए प्रतिपदा को घटस्थापना कर प्रतिदिन सुबह शाम मां दुर्गा की पूजा की जाती है।
अष्टमी या नवमी के दिन कन्याओं के पूजन के साथ व्रत का उद्यापन किया जाता है। वहीं तंत्र साधना वाले साधक इन दिनों में माता के नवरूपों की बजाय दस महाविद्याओं की साधना करते हैं।  यदि साधना सही विधि से न की जाये तो इसके प्रतिकूल प्रभाव भी साधक पर पड़ सकते हैं इसलिए साधना अपने गुरु के निर्देशन में ही करें।

चोपड़ा जी ने बताया कि दशमी तिथि को भड़ली नवमी होने के कारण उस दिन अबूझ मुहूर्त रहेगा। इस मुहूर्त पर विवाह एवं शुभ कार्य किये जा सकते है।
 
read more

Daily Panchang for 02nd July 2019

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 02 जुलाई 2019
⛅ दिन - मंगलवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ *मास - आषाढ़ *
⛅ पक्ष - कृष्ण 
⛅ तिथि - अमावस्या रात्रि 12:46 तक तत्पश्चात प्रतिपदा
⛅ नक्षत्र - मॄगशिरा सुबह 08:15 तक तत्पश्चात आर्द्रा
⛅ योग - वृद्धि दोपहर 02:51 तक तत्पश्चात ध्रुव
⛅ राहुकाल - शाम 03:52 से शाम 05:32 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:01
⛅ सूर्यास्त - 19:23 
⛅ दिशाशूल - उत्तर दिशा में
⛅ व्रत पर्व विवरण - दर्श अमावस्या

               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 गुप्त नवरात्रि 🌷

🙏🏻 हिंदू धर्म के अनुसार, एक साल में चार नवरात्रि होती है, लेकिन आम लोग केवल दो नवरात्रि (चैत्र व शारदीय नवरात्रि) के बारे में ही जानते हैं। इनके अलावा आषाढ़ तथा माघ मास में भी नवरात्रि का पर्व आता है, जिसे गुप्त नवरात्रि कहते हैं। इस बार आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि का प्रारंभ आषाढ़ शुक्ल प्रतिपदा (03 जुलाई, बुधवार) से होगा, जो आषाढ़ शुक्ल नवमी (10 जुलाई, बुधवार) को समाप्त होगी।

👺 शत्रु को मित्र बनाने के लिए 👺
🙏🏻 नवरात्रि में शुभ संकल्पों को पोषित करने, रक्षित करने, मनोवांछित सिद्धियाँ प्राप्त करने के लिए और शत्रुओं को मित्र बनाने वाले मंत्र की सिद्धि का योग होता है।
🙏🏻 नवरात्रि में स्नानादि से निवृत हो तिलक लगाके एवं दीपक जलाकर यदि कोई बीज मंत्र 'हूं' (Hum) अथवा 'अं रां अं' (Am Raam Am) मंत्र की इक्कीस माला जप करे एवं 'श्री गुरुगीता' का पाठ करें  तो शत्रु भी उसके मित्र बन जायेंगे l

👩🏻  माताओं बहनों के लिए विशेष कष्ट निवारण हेतु प्रयोग 1
👩🏻 जिन माताओं बहनों को दुःख और कष्ट ज्यादा सताते हैं, वे नवरात्रि के प्रथम दिन (देवी-स्थापना के दिन) दिया जलायें और कुम-कुम से अशोक वृक्ष की पूजा करें ,पूजा करते समय निम्न मंत्र बोलें :
🌷 “ अशोक शोक शमनो भव सर्वत्र नः कुले "

" ASHOK SHOK SHAMNO BHAV SARVATRA NAH KULE "
🙏🏻 भविष्योत्तर पुराण के अनुसार नवरात्रि के प्रथम दिन इस तरह पूजा करने से माताओ बहनों के कष्टों का जल्दी निवारण होता है l

👩🏻  माताओं बहनों के लिए विशेष कष्ट निवारण हेतु प्रयोग 2
🙏🏻  शुक्ल पक्ष तृतीया (05 जुलाई, शुक्रवार) के दिन में सिर्फ बिना नमक मिर्च का भोजन करें l (जैसे दूध, रोटी या खीर खा सकते हैं, नमक मिर्च का भोजन अगले दिन ही करें l)
🌷 • " ॐ ह्रीं गौरये नमः "
 "Om Hreem Goryaye Namah"
🙏🏻 मंत्र का जप करते हुए उत्तर दिशा की ओर मुख करके स्वयं को कुम -कुम का तिलक करें l
🐄 गाय को चन्दन का तिलक करके गुड़ और रोटी खिलाएं l

💰 श्रेष्ठ अर्थ (धन) की प्राप्ति हेतु 💰
➡ प्रयोग : नवरात्रि में देवी के एक विशेष मंत्र का जप करने से श्रेष्ठ अर्थ कि प्राप्ति होती है मंत्र ध्यान से पढ़ें :
🌷 " ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं कमल-वासिन्ये स्वाह् "


👦🏻 विद्यार्थियों के लिए 👦🏻

🙏🏻 प्रथम नवरात्रि के दिन विद्यार्थी अपनी पुस्तकों को ईशान कोण में रख कर पूजन करें और नवरात्रि के तीसरे तीन दिन विद्यार्थी सारस्वत्य मंत्र का जप करें।
📖 इससे उन्हें विद्या प्राप्ति में अपार सफलता मिलती है l

बुद्धि व ज्ञान का विकास करना हो तो सूर्यदेवता का भ्रूमध्य में ध्यान करें ।
🙏🏻 जिनको गुरुमंत्र मिला है वे गुरुमंत्र का, गुरुदेव का, सूर्यनारायण का ध्यान करें। अतः इस सरल मंत्र की एक-दो माला नवरात्रि में अवश्य करें और लाभ लें l



📖 आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145
            🌞 ~हिन्दू पंचांग ~🌞
🙏🏻🌷🌻🍀🌹🌼💐🌺🌸🙏🏻

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register
read more

Daily Panchang for 1st July 2019

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 01 जुलाई 2019
⛅ दिन - सोमवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ *मास - आषाढ़ 
⛅ पक्ष - कृष्ण 
⛅ तिथि - चतुर्दशी 02 जुलाई रात्रि 03:06 तक तत्पश्चात अमावस्या
⛅ नक्षत्र - रोहिणी सुबह 09:26 तक तत्पश्चात मॄगशिरा
⛅ योग - गण्ड शाम 05:37 तक तत्पश्चात वृद्धि
⛅ राहुकाल - सुबह 07:29 से सुबह 09:10 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:01
⛅ सूर्यास्त - 19:23 
⛅ दिशाशूल - पूर्व दिशा में
⛅ व्रत पर्व विवरण - मासिक शिवरात्रि
*
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

 🌷 नकारात्मक ऊर्जा मिटाने के लिए 🌷

➡ 02 जुलाई 2019 मंगलवार को अमावस्या है ।
🏡  घर में हर अमावस्या  अथवा हर १५ दिन में पानी में खड़ा नमक (१ लीटर पानी में ५० ग्राम खड़ा नमक) डालकर पोछा लगायें । इससे नेगेटिव एनेर्जी चली जाएगी । अथवा खड़ा नमक के स्थान पर गौझरण अर्क भी डाल सकते हैं ।
     
         🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 अमावस्या 🌷

🙏🏻 अमावस्या के दिन जो वृक्ष, लता आदि को काटता है अथवा उनका एक पत्ता भी तोड़ता है, उसे ब्रह्महत्या का पाप लगता है  (विष्णु पुराण)
🙏🏻 शनि और पितृदोष से छुटकारा पाने के लिए उड़द या उड़द की छिलकेवाली दाल, काला कपड़ा, तला हुआ पदार्थ एवं दूध गरीबों में दान करें ।

          🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 धन-धान्य व सुख-संम्पदा के लिए 🌷

🔥 हर अमावस्या को घर में एक छोटा सा आहुति प्रयोग करें।
🍛 सामग्री : १. काले तिल, २. जौं, ३. चावल, ४. गाय का घी, ५. चंदन पाउडर, ६. गूगल, ७. गुड़, ८. देशी कर्पूर, गौ चंदन या कण्डा।
🔥 विधि: गौ चंदन या कण्डे को किसी बर्तन में डालकर हवनकुंड बना लें, फिर उपरोक्त ८ वस्तुओं के मिश्रण से तैयार सामग्री से, घर के सभी सदस्य एकत्रित होकर नीचे दिये गये देवताओं की १-१ आहुति दें।

🔥 आहुति मंत्र 🔥
🌷 १. ॐ कुल देवताभ्यो नमः
🌷 २. ॐ ग्राम देवताभ्यो नमः
🌷 ३. ॐ ग्रह देवताभ्यो नमः
🌷 ४. ॐ लक्ष्मीपति देवताभ्यो नमः
🌷 ५. ॐ विघ्नविनाशक देवताभ्यो नमः
          🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 समृद्धि बढ़ाने के लिए 🌷

🌙 कर्जा हो गया है तो अमावस्या के दूसरे दिन से पूनम तक रोज रात को चन्द्रमा को अर्घ्य दे, समृद्धि बढेगी ।
🙏🏻 दीक्षा मे जो मन्त्र मिला है उसका खूब श्रध्दा से जप करना शुरू करें,जो भी समस्या है हल हो जायेगी ।
*

📖 आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145
        🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🙏🏻🌷💐🌸🌼🌹🍀🌺💐🙏🏻

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register

read more

Daily Panchang for 28th June 2019

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 28 जून 2019
⛅ दिन - शुक्रवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 *
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ मास - आषाढ़
⛅ पक्ष - कृष्ण 
⛅ तिथि - दशमी सुबह 06:36 तक तत्पश्चात एकादशी
⛅ नक्षत्र - अश्विनी सुबह 09:12 तक तत्पश्चात भरणी
⛅ योग - सुकर्मा रात्रि 11:02 तक तत्पश्चात धृति
⛅ राहुकाल - सुबह 10:49 से दोपहर 12:30 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:00
⛅ सूर्यास्त - 19:22 
⛅ दिशाशूल - पश्चिम दिशा में
⛅ *व्रत पर्व विवरण - 
💥 *विशेष - 
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 योगिनी एकादशी 🌷
➡ 29 जून, शनिवार को योगिनी एकादशी (महापापों को शांत कर महान पुण्य देनेवाला तथा 88000 ब्राह्मणों को भोजन कराने का फल देनेवाला व्रत)

           🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 वास्तु शास्त्र 🌷

⏰ घड़ी
खराब घड़ी घर में नहीं रखना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि घड़ियों की स्थिति से हमारे घर-परिवार की उन्नति निर्धारित होती है। यदि घड़ी सही नहीं होगी परिवार के सदस्य कार्य पूर्ण करने में बाधाओं का सामना करेंगे और काम निश्चित  समय में पूर्ण नहीं हो पाएगा।
          🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 आपत्तिनिवारण के लिए ‘शिवसूत्र’ मंत्र 🌷

🙏🏻 जिस समय आपत्तियाँ आ धमकें, उस समय भगवन शिव के डमरू से प्राप्त १४ सूत्रों को अर्थात् ‘शिवसूत्र’ मंत्र को एक श्वास में बोलने का अभ्यास करके इसका एक माला (१०८ बार) जप प्रतिदिन करें| कैसा भी कठिन कार्य हो, इससे शीघ्र सिद्धि प्राप्ति होती है| ‘शिवसूत्र’ मंत्र इस प्रकार है-
🌷 ‘अइउण, ॠलृक्, एओड़्, ऐऔच्, हयवरट्, लण्, ञमड़णनम्, झभञ्, घढधश्, जबगडदश्, खफछठथ, चटतव्, कपय्, शषसर्, हल्|’

➡ इसी मंत्र के अन्य प्रयोग निम्नानुसार है-
👉🏻 १. बिच्छू के काटने पर इन सूत्रों से झाड़ने पर विष उतर जाता है|
👉🏻 २. जिस व्यक्ति में प्रेत का प्रवेश आया हो, उस पर उपरोक्त सूत्रों से अभिमंत्रित जल के छीटें मारने  से प्रवेश छूट जाता है तथा इन्हीं सूत्रों को भोजपत्र पर लिख कर गले मे बाँधने से अथवा बाजू पर बाँधने से प्रेतबाधा दूर हो जाती है|
👉🏻 ३. ज्वर, तिजारी (ठंड लगकर तीसरे दिन आनेवाला ज्वर), चौथिया (हर चौथे दिन आनेवाला ज्वर) आदि में इन सूत्रों द्वारा झाड़ने-फूँकने से ज्वर उतर जाता है| अथवा इन्हें पीपल के एक बड़े पत्ते  पर लिखकर गले या हाथ पर बाँधने से भी ज्वर उतर जाते हैं|
👉🏻 ४. मिर्गी(अपस्मार) होने पर भी इन सूत्रों से झाड़ना चाहिए तथा अभिमंत्रित जल प्रतिदिन पिलाना चाहिए|


📖 आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145
           🌞 ~ हिन्दू पंचाग ~ 🌞 
🙏🍀🌻🌹🌸💐🍁🌷🌺🙏

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register
read more

Daily Panchang for 27th June 2019

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 27 जून 2019
⛅ दिन - गुरुवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ *मास - आषाढ़ 
⛅ पक्ष - कृष्ण 
⛅ तिथि - दशमी पूर्ण रात्रि तक
⛅ नक्षत्र - रेवती सुबह 07:44 तक तत्पश्चात अश्विनी
⛅ योग - अतिगण्ड रात्रि 11:43 तक तत्पश्चात सुकर्मा
⛅ राहुकाल - दोपहर 02:11 से शाम 03:51 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:00
⛅ सूर्यास्त - 19:22 
⛅ दिशाशूल - दक्षिण दिशा में
⛅ व्रत पर्व विवरण - दशमी वृद्धि तिथि
💥 *विशेष - 
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 एकादशी व्रत के लाभ 🌷

28 जून 2019 शुक्रवार को सुबह 06:37 से 29 जून, शनिवार को सुबह 06:45 तक एकादशी है ।

💥 विशेष - 29 जून, शनिवार को एकादशी का व्रत (उपवास) रखें ।

🙏🏻 एकादशी व्रत के पुण्य के समान और कोई पुण्य नहीं है ।
🙏🏻 जो पुण्य सूर्यग्रहण में दान से होता है, उससे कई गुना अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।
🙏🏻 जो पुण्य गौ-दान सुवर्ण-दान, अश्वमेघ यज्ञ से होता है, उससे अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।
🙏🏻 एकादशी करनेवालों के पितर नीच योनि से मुक्त होते हैं और अपने परिवारवालों पर प्रसन्नता बरसाते हैं ।इसलिए यह व्रत करने वालों के घर में सुख-शांति बनी रहती है ।
🙏🏻 धन-धान्य, पुत्रादि की वृद्धि होती है ।
🙏🏻 कीर्ति बढ़ती है, श्रद्धा-भक्ति बढ़ती है, जिससे जीवन रसमय बनता है ।
🙏🏻 परमात्मा की प्रसन्नता प्राप्त होती है ।पूर्वकाल में राजा नहुष, अंबरीष, राजा गाधी आदि जिन्होंने भी एकादशी का व्रत किया, उन्हें इस पृथ्वी का समस्त ऐश्वर्य प्राप्त हुआ ।भगवान शिवजी  ने नारद से कहा है : एकादशी का व्रत करने से मनुष्य के सात जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं, इसमे कोई संदेह नहीं है । एकादशी के दिन किये हुए व्रत, गौ-दान आदि का अनंत गुना पुण्य होता है ।

          🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 एकादशी के दिन करने योग्य 🌷

🙏🏻 एकादशी को दिया जलाके विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें .......विष्णु सहस्त्र नाम नहीं हो तो १० माला गुरुमंत्र का जप कर लें l अगर घर में झगडे होते हों, तो झगड़े शांत हों जायें ऐसा संकल्प करके विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें तो घर के झगड़े भी शांत होंगे l

          🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 एकादशी के दिन ये सावधानी रहे 🌷

🙏🏻 *महीने में १५-१५ दिन में  एकादशी आती है एकादशी का व्रत पाप और रोगों को स्वाहा कर देता है लेकिन वृद्ध, बालक और बीमार व्यक्ति एकादशी न रख सके तभी भी उनको चावल का तो त्याग करना चाहिए एकादशी के दिन जो चावल खाता है... तो धार्मिक ग्रन्थ से एक- एक चावल एक- एक कीड़ा खाने का पाप लगता है...

📖 आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145
           🌞 ~ हिन्दू पंचाग ~ 🌞 
🙏🍀🌻🌹🌸💐🍁🌷🌺🙏

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register
read more

Daily Panchang for 26th June 2019

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 26 जून 2019
⛅ दिन - बुधवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 *
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ *मास - आषाढ़ 
⛅ पक्ष - कृष्ण 
⛅ तिथि - नवमी 27 जून प्रातः 05:44 तक तत्पश्चात दशमी
⛅ नक्षत्र - रेवती पूर्ण रात्रि तक
⛅ योग - शोभन रात्रि 11:51 तक तत्पश्चात अतिगण्ड
⛅ राहुकाल - दोपहर 12:30 से दोपहर 02:10 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:00
⛅ सूर्यास्त - 19:22 
⛅ दिशाशूल - उत्तर दिशा में
⛅ *व्रत पर्व विवरण - 
💥 विशेष - नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 आसन सिद्ध करने के लिए

अनुष्ठान शुरू कर रहे हो तो पहले आसन सिद्ध करें...स्थापना करें । पूर्व दिशा की ओर मुंह करके आसन पर बैठें । चावल के दाने ( अक्षत ) हल्दी से पीले कर दें ।
अग्नि कोण (पूर्व और दक्षिण के बीच का ) में आसन के नीचे कोने पर वो दाने रख दिए और ' ॐ गं गणेशाय नमः ' मेरा आसन और अनुष्ठान सिद्ध हो ...मेरे जप ध्यान में कोई विघ्न न आए। फिर नेर्रित्त्य कोण ( दक्षिण और पश्चिम के बीच का कोण ) के आसन के कोने के नीचे दाने रख दिए और प्रार्थना करें 'ॐ ऐं सरस्वत्यै नमः ' ...हें सरस्वती मुझे सद्बुद्धि देना... मेरे अनुष्ठान में मैं ही अड़चन न बनूँ ...मैं उपवास न तोडूं .... मेरी बुद्धि बनी रहे ।
फिर वायव्य कोण ( पश्चिम और उत्तर के बीच का कोण ) के आसन के कोने के नीचे चावल के दाने रखें  और 'ॐ दुं दुर्गाय नमः ' हें माँ दुर्गा ... काम , क्रोध , लोभ, मोह, मद, मत्सर, आदि अगर मेरे जप अनुष्ठान में अड़चन बनें तो मेरे ये दुर्गुणों को भी तू दूर करना । फिर ईशान कोण ( उत्तर और पूर्व के बीच का कोण ) के कोने के नीचे दाने रख दिए और ' श्याम क्षेत्रपालय नमः ' जपे ।

         🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 जायफल 🌷

👉🏻 जायफल रूचि उत्पन्न करनेवाला, जठराग्नि – प्रदीपक तथा कफ और वायु का शमन करनेवाला है | जायफल जितना वयस्कों के लिए हितकर है, उतना ही बालकों के लिए भी हितकर है | यह ह्रदयरोग, दस्त, खाँसी, उल्टी , जुकाम आदि में लाभदायी है |
👉🏻 युनानी मतानुसार जायफल पेशाब लानेवाले, दुग्धवर्धक, नींद लानेवाले, पाचक व पौष्टिक होते हैं | वजन में हल्के , पोले और रूखे जायफल कनिष्ठ और बड़े, चिकने व भारी जायफल श्रेष्ठ माने जाते हैं |

💊 औषधीय प्रयोग 💊

➡ वात – रोग : १ भाग जायफल चूर्ण तथा २ भाग अश्वगंधा चूर्ण को मिलाकर रख लें | ३ ग्राम मिश्रण प्रतिदिन दूध के साथ लेने से वात – रोगों में लाभ होता है एवं रोगप्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है |
➡ बच्चों के दस्त : जायफल व सौंठ को गाय के दूध में घिस के बच्चों को चटाने से जुकाम से होनेवाले दस्त बंद होते है |
➡ अनिद्रा : जायफल चूर्ण को पानी के साथ लेने से अच्छी नींद आती है |
➡ मंदाग्नि : जायफल चूर्ण शहद के साथ लेने से मंदाग्नि दूर होती है व ह्रदय को बल मिलता है |
➡ *मुँह  की दुर्गंध : जायफल के टुकड़े को चूसने से दुर्गंध दूर होती ह


📖 आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145
          🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🙏🏻🌷🌻🌹🍀🌺🌸🍁💐🙏🏻

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register
read more