• +(91) 7000106621
  • astrolok.vedic@gmail.com

Learn what’s best for you

Learn Jyotish

*देवशयनी एकादशी 12 जुलाई से मांगलिक कार्यो पर लगेगा विराम*

देवशयनी एकादशी 12 जुलाई शुक्रवार आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की एकादशी के दिन सर्वार्थसिद्धि योग और रवि योग में मनाई जाएगी।

एकादशी तिथि 11 जुलाई शाम 3:32 बजे से प्रारंभ होकर 12 जुलाई शाम 3: 01 बजे तक रहेगी। इसी दिन से चातुर्मास का आरंभ भी माना गया है.
देवशयनी एकादशी को हरिशयनी एकादशी और पद्मनाभा के नाम से भी जाना जाता है सभी उपवासों में देवशयनी एकादशी व्रत श्रेष्ठतम कहा गया है. इस व्रत को करने से भक्तों की समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं, तथा सभी पापों का नाश होता है. इस दिन भगवान विष्णु की विशेष पूजा अर्चना करने का महत्व होता है क्योंकि इसी रात्रि से भगवान का शयन काल आरंभ हो जाता है जिसे चातुर्मास या चौमासा का प्रारंभ भी कहते है।

देवशयनी एकादशी के बाद सभी शुभ कार्यो पर जैसे यग्योपवीत संस्कार, विवाह, दीक्षा, यज्ञ, ग्रह प्रवेश सभी पर विराम लग जायेगा। इस समय भगवान विष्णु चार माह के लिए राजा बलि के यहाँ पाताल लोक में विश्राम करते है।

वास्तव में यह वे दिन होते हैं जब चारों तरफ नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव बढ़ने लगता है और शुभ शक्तियां कमजोर पड़ने लगती हैं ऐसे में जरूरी होता है कि देव पूजन द्वारा शुभ शक्तियों को जाग्रत रखा जाए। देवप्रबोधिनी एकादशी 8 नवंबर शुक्रवार को भगवान विष्णु देवता के उठने के साथ ही शुभ शक्तियां प्रभावी हो जाती हैं और नकारात्मक शक्तियां क्षीण होने लगती हैं।

*देवशयनी पर ऐसे करें पूजा*

देवशयनी एकादशी को सुबह जल्दी उठें। इसके बाद घर की साफ-सफाई और नित्य कर्म से निवृत्त होकर घर में पवित्र जल से छिड़काव करें। घर के पूजा स्थल या किसी पवित्र स्थान पर भगवान श्री विष्णु जी की सोने, चांदी, तांबे या कांसे की मूर्ति स्थापित करें। उसके बाद षोडशोपचार से उनकी पूजा करें।
भगवान विष्णु को पीतांबर आदि से विभूषित करें। फिर व्रत कथा सुने, इसके बाद आरती कर प्रसाद वितरण करें। सफेद चादर से ढके हुए बिस्तर पर श्री विष्णु को शयन कराना चाहिए। इन चार महीनों के लिए अपनी रुचि या इच्छा के अनुसार दैनिक व्यवहार के पदार्थों का त्याग करें।

ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा
9302325222


Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.asttrolok.com/index.php/welcome/register

read more

Daily Panchang for 9th July 2019

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 09 जुलाई 2019
⛅ दिन - मंगलवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 *
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ मास - आषाढ़
⛅ पक्ष - शुक्ल 
⛅ तिथि - अष्टमी 10 जुलाई रात्रि 03:31 तक तत्पश्चात नवमी
⛅ नक्षत्र - हस्त शाम 05:16 तक तत्पश्चात चित्रा
⛅ योग - परिघ दोपहर 12:40 तक तत्पश्चात शिव
⛅ राहुकाल - शाम 03:52 से शाम 05:33 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:04
⛅ सूर्यास्त - 19:23 
⛅ दिशाशूल - उत्तर दिशा में
⛅ व्रत पर्व विवरण - परशुरामाष्टमी (ओड़िशा)
💥 विशेष - अष्टमी को नारियल का फल खाने से बुद्धि का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 घर की शोभा बढ़ाने के लिए 🌷

🏡 १. किसी का बुरा न माने , किसी का बुरा ना सोचे..तो घर स्वर्ग हो जायेगा
🏡 २ .आव नही, आदर नही, नही नयनन मे नेह
तुलसी वा घर ना जायियो चाहे कंचन बरसे गेह
आप के घर मे कोई आये तो उसको आदर दीजिये आप के घर की शोभा बढेगी..


           🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 ज्योतिष शास्त्र 🌷

✈ विदेश जाने का सपना तो कई लोग देखते हैं, लेकिन कुछ ही लोगों का ये सपना पूरा हो पाता है। कभी पैसे की कमी इस सपने के आड़े आ जाती है तो कभी कागजी औपचारिकताएं। कभी तो इन सबके होने के बाद भी विदेश जाने के योग नहीं बन पाते। ज्योतिष शास्त्र के अंतर्गत  कई उपाय हैं, जिन्हें करने से आपकी हर मुश्किल आसान हो जाएगी और आपके विदेश जाने के योग बनने लगेंगे। ये उपाय इस प्रकार हैं-

🛩 उपाय नं. 1⃣
किसी भी संक्रांति (जिस दिन सूर्य एक राशि से निकल कर दूसरी राशि में प्रवेश करता है, उसे संक्रांति कहते हैं) के दिन सफेद तिल और थोड़ा गुड़ लें। सूर्यास्त के समय एक मिट्टी के कुल्हड़ (एक प्रकार का बर्तन) में डालकर उस कुल्हड़ को पीपल के एक पत्ते से ढक लें। फिर किसी आक के पौधे की जड़ में रख आएं।

🛩 उपाय नं. 2⃣
रोज किसी हनुमानजी के मंदिर में जाएं। हनुमानजी की मूर्ति के आगे दीपक जलाएं व हनुमान चालीसा का पाठ करें। इसके बाद हनुमानजी की मूर्ति की 3 परिक्रमा करें। इस उपाय से भी विदेश जाने के योग बन सकते हैं।

🛩 उपाय नं. 3⃣

शुक्रवार को लाल कपड़े पर महालक्ष्मी की मूर्ति स्थापित कर पूजा करें। ऊं अनंग वल्लभाये विदेश गमनाय कार्य सिद्धयर्थे नम: का जप 5 दिन तक 11 हजार या 24 हजार बार करें। आपके विदेश जाने की इच्छा पूरी हो सकती है।

📖 आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145
           🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🙏🏻🌷🌻☘🌸🌹🌼🌺💐🙏🏻

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register
read more

Daily Panchang for 08th July 2019

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 08 जुलाई 2019
⛅ दिन - सोमवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 *
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ मास - आषाढ़
⛅ पक्ष - शुक्ल 
⛅ तिथि - षष्ठी सुबह 07:42 तक तत्पश्चात सप्तमी
⛅ नक्षत्र - उत्तराफाल्गुनी शाम 06:34 तक तत्पश्चात हस्त
⛅ योग - वरीयान् शाम 03:28 तक तत्पश्चात परिघ
⛅ राहुकाल - सुबह 07:31 से सुबह 09:11 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:03
⛅ सूर्यास्त - 19:23 
⛅ दिशाशूल - पूर्व दिशा में
⛅ व्रत पर्व विवरण - सप्तमी क्षय तिथि
💥 विशेष - षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 कर्ज से मुक्ति हेतु

🙏🏻 शुक्ल पक्ष हो किसी भी मास का, शुक्ल पक्ष के प्रथम मंगलवार को शिवलिंग पर दूध व जल के बाद मसूर की दाल अर्पण करते हुये ये मंत्र बोले –

🌷 ॐ ऋणमुक्तेश्वर महादेवाय नम:
💰 तो इससे ऋण, कर्जे से मुक्ति मिलती है |
➡ विशेष ~ 09 जुलाई 2019 को शुक्ल पक्ष का प्रथम मंगलवार है।

         🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 जुकाम 🌷
😪 बार-बार सर्दी, जुकाम, खाँसी होती हो तो मूँग व मूली का सूप बना के काली मिर्च, सेंधा नमक एवं अजवाईन मिलाकर पियें |
*
         🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 स्वास्थ्य व सत्त्व वर्धक – बिल्वपत्र 🌷

➡ बिल्वपत्र ( बेल के पत्ते ) उत्तम वायुशामक, कफ – निस्सारक व जठराग्निवर्धक हैं | ये कृमि व शरीर की दुर्गध का नाश करते हैं | बिल्वपत्र ज्वरनाशक, वेदनाहर, संग्राही ( मल को बाँधकर लानेवाले ) व सूजन उतारनेवाले हैं | ये मूत्रगत शर्करा को कम करते हैं, अत: मधुमेह में लाभदायी हैं | बिल्वपत्र ह्रदय व मस्तिष्क को बल प्रदान करते हैं | शरीर को पुष्ट व सुडौल बनाते हैं |

इनके सेवन से मन में सात्त्विकता आती है |
➡ कोई रोग न भी हो तो भी नित्य बिल्वपत्र या इनके रस का सेवन करें तो बहुत लाभ होगा | बेल के पत्ते काली मिर्च के साथ घोट के लेना स्वास्थ्य के लिए अत्यंत हितकर है | इनके रस में शहद मिलाकर लेना भी लाभकारी है |

💊 औषधीय प्रयोग 💊
➡ मधुमेह ( डायबीटीज ) : बिल्वपत्र के १० – १५ मि. ली. रस में १ चुटकी गिलोय का सत्त्व एवं १ चम्मच आँवले का चूर्ण मिला के लें |
➡ स्वप्नदोष : बेलपत्र, धनिया व सौंफ समभाग लेकर कूट लें | यह १० ग्राम मिश्रण शाम को १२५ मि. ली. पानी में भिगो दें | सुबह खाली पेट लें | इसी प्रकार सुबह भिगोये चूर्ण को शाम को लें | स्वप्नदोष में शीघ्र लाभ होता है | प्रमेह एवं श्वेतप्रदर रोग में भी यह लाभकारी है |
➡ धातुक्षीणता : बेलपत्र के ३ ग्राम चूर्ण में थोडा शहद मिला के सुबह – शाम लेने से धातु पुष्ट होती है |
😡 मस्तिष्क की गर्मी : बेल की पत्तियों को पानी के साथ मोटा पीस लें | इसका माथे पर लेप करने से मस्तिष्क की गर्मी शांत होगी और नींद अच्छी आयेगी |


📖 हिन्दू पंचांग संपादक ~ आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145
          🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🙏🏻🌷🌻🌹🍀🌺🌸🍁💐🙏🏻

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.asttrolok.com/index.php/welcome/register
read more

Daily Panchang for 5th July 2019

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 05 जुलाई 2019
⛅ दिन - शुक्रवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ मास - आषाढ़
⛅ पक्ष - शुक्ल 
⛅ तिथि - तृतीया शाम 04:09 तक तत्पश्चात चतुर्थी
⛅ नक्षत्र - अश्लेशा रात्रि 12:19 तक तत्पश्चात मघा
⛅ योग - वज्र 06 जुलाई रात्रि 01:20 तक तत्पश्चात सिद्धि
⛅ राहुकाल - सुबह 10:51 से दोपहर 12:31 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:02
⛅ सूर्यास्त - 19:23 
⛅ दिशाशूल - पश्चिम दिशा में
⛅ *व्रत पर्व विवरण - 
💥 विशेष - तृतीया को पर्वल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 लक्ष्मी प्राप्ति में सावधानी 🌷

💐 फूलों को पैरो तले नहीं आने देना चाहिए, अन्यथा लक्ष्मीजी नाराज़ हो जाती हैं l

         🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 वास्तु शास्त्र 🌷

🏡 03 जुलाई से 10 जुलाई तक गुप्त नवरात्रि  पर्व है। इस दौरान देवी की पूजा-अर्चना करने का विशेष महत्व माना जाता है। वास्तु में ऐसी कई वस्तुएं बताई गई हैं, जिनका खास संबंध किसी विशेष देवी-देवता या दिन से माना जाता है। वास्तु के अनुसार, देवी से संबंधित ये 5 चीजें नवरात्रि  के दौरान घर में लाई जाएं तो देवी प्रसन्न होती हैं और घर-परिवार पर देवी की विशेष कृपा बनी रहती है।

➡ पाना चाहते हैं  देवी की विशेष कृपा तो नवरात्रि  के दौरान घर में रखें ये 5 चीजें
1⃣  कमल का फूल या तस्वीर
कमल का फूल देवी लक्ष्मी को विशेष रुप से प्रिय है।नवरात्रि  के दौरान यदि घर में कमल का फूल या उससे संबंधी कोई तस्वीर लगाई जाए तो देवी लक्ष्मी की कृपा घर-परिवार पर हमेशा बनी रहती है।

2⃣  चाँदी या सोने का सिक्का

नवरात्रि  के दौरान घर में चाँदी या सोने का सिक्का लाना अच्छा माना जाता है। सिक्के पर यदि देवी लक्ष्मी या भगवान गणेशजी का श्रीचित्र अंकित हो तो और शुभ होगा।

3⃣  देवी लक्ष्मी की ऐसी तस्वीर

घर में हमेशा धन-धान्य बनाए रखना चाहते हैं तो नवरात्रि  के दौरान देवी लक्ष्मी की ऐसी तस्वीर घर में  लाएँ जिसमें कमल के फूल पर माता लक्ष्मी बैठी दिखाई दे रही हो, साथ ही उनके हाथों से धन की वर्षा हो रही हो।

4⃣  मोर पंख

देवी के सरस्वती स्वरूप में देवी का वाहन मोर माना जाता है, इसलिए नवरात्रि  के दौरान घर में मोर पंख ला कर उसे मंदिर में स्थापित करने से कई फायदे होते हैं।

5⃣  सोलह श्रृंगार का सामान

नवरात्रि  के दौरान सोलह- श्रृंगार का सामान घर लाना चाहिए और उसे घर के मंदिर में स्थापित कर देना चाहिए। ऐसा करने से देवी माँ की कृपा हमेशा घर पर बनी रहती है।
         🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 दुर्गति से रक्षा हेतु 🌷
😌 मरणासन्न व्यक्ति के सिरहाने गीताजी रखें | दाह – संस्कार के समय ग्रन्थ को गंगाजी में बहा दें, जलायें नहीं |
🔥 मृतक के अग्नि – संस्कार की शुरुआत तुलसी की लकड़ियों से करें अथवा उसके शरीर पर थोड़ी – सी तुलसी की लकडियाँ बिछा दें, इससे दुर्गति से रक्षा होती है |


📖 आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145*
          🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🙏🏻🌷🌻🌹🍀🌺🌸🍁💐🙏🏻

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register
read more

Daily Panchang for 04th July 2019

 🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 04 जुलाई 2019
⛅ दिन - गुरुवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 *
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ मास - आषाढ़
⛅ पक्ष - शुक्ल 
⛅ तिथि - द्वितीया रात्रि 07:10 तक तत्पश्चात तृतीया
⛅ नक्षत्र - पुष्य 5 जुलाई रात्रि 02:30 तक तत्पश्चात अश्लेशा
⛅ योग - व्याघात सुबह 08:22 तक तत्पश्चात हर्षण
⛅ राहुकाल - दोपहर 02:12 से शाम 03:52 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:01
⛅ सूर्यास्त - 19:23 
⛅ दिशाशूल - दक्षिण दिशा में
⛅ व्रत पर्व विवरण - भगवान जगन्नाथ रथयात्रा, गुरुपुष्यामृत योग  (सूर्योदय से रात्रि 02:30 तक)
💥 विशेष - द्वितीया को बृहती (छोटा   गन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 गुप्त नवरात्रि 🌷
➡ आषाढ़ मास की शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तिथि तक गुप्त नवरात्रि  का पर्व मनाया जाता है। बहुत कम लोग इस नवरात्रि  के बारे में जानते हैं, इसलिए इसे गुप्त नवरात्रि  कहा जाता है। गुप्त नवरात्रि  में किए गए उपाय जल्दी ही शुभ फल प्रदान कर सकते हैं। धन, नौकरी, स्वास्थ्य, संतान, विवाह, प्रमोशन आदि कई मनोकामनाएं इन 9 दिनों में किए गए उपायों से प्राप्त हो सकते हैं ।
अगर आपके मन में  कोई मनोकामना है तो आगे बताए गए उपायों से वह पूरी हो सकती है। ये उपाय इस प्रकार हैं-

💰 1. धन लाभ के लिए उपाय

गुप्त नवरात्रि  के दौरान किसी भी दिन स्नान आदि करने के बाद उत्तर दिशा की ओर मुख करके पीले आसन पर बैठ जाएं। अपने सामने तेल के ९ दीपक जला लें। ये दीपक साधनाकाल तक जलते रहना चाहिए। दीपक के सामने लाल चावल (चावल को रंग लें) की एक ढेरी बनाएं फिर उस पर एक श्रीयंत्र रखकर उसका कुम कुम, फूल, धूप, तथा दीप से पूजन करें।
➡ उसके बाद एक प्लेट पर स्वस्तिक बनाकर उसे अपने सामने रखकर उसका पूजन करें। श्रीयंत्र को अपने पूजा स्थल पर स्थापित कर लें और शेष सामग्री को नदी में प्रवाहित कर दें। इस प्रयोग से आपको अचानक धन लाभ होने के योग बन सकते हैं।

👨🏻👩🏻 2. शीघ्र विवाह के लिए उपाय

गुप्त नवरात्रि  में शिव-पार्वती का एक चित्र अपने पूजास्थल में रखें और उनकी पूजा करने के बाद नीचे लिखे मंत्र का 3, 5 अथवा 10 माला जप करें। जप के बाद भगवान शिव से विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करने की प्रार्थना करें-
🌷 मंत्र- ऊं शं शंकराय सकल-जन्मार्जित-पाप-विध्वंसनाय,
पुरुषार्थ-चतुष्टय-लाभाय च पतिं मे देहि कुरु कुरु स्वाहा।।

👨🏻 3. मनपसंद वर के लिए उपाय

गुप्त नवरात्रि  के दौरान किसी भी दिन अपने पास स्थित शिव मंदिर में जाएं। वहां भगवान शिव एवं मां पार्वती पर जल एवं दूध चढ़ाएं और पंचोपचार (चंदन, पुष्प, धूप, दीप एवं नैवेद्य) से उनका पूजन करें। अब मौली (पूजा में उपयोग किया जाने वाला लाल धागा) से उन दोनों के मध्य गठबंधन करें। अब वहां बैठकर लाल चंदन की माला से इस मंत्र का जप 108 बार करें-
🌷 हे गौरी शंकरार्धांगी। यथा त्वं शंकर प्रिया।
तथा मां कुरु कल्याणी, कान्त कान्तां सुदुर्लभाम्।।
➡ इसके बाद तीन महीने तक रोज इसी मंत्र का जप शिव मंदिर में अथवा अपने घर के पूजाकक्ष में मां पार्वती के सामने 108 बार करें। घर पर भी आपको पंचोपचार पूजा करनी है।

💵 4. बरकत बढ़ाने का उपाय

गुप्त नवरात्रि  में किसी भी दिन सुबह स्नान कर साफ कपड़े में अपने सामने मोती शंख को रखें और उस पर केसर से स्वस्तिक का चिह्न बना दें। इसके बाद नीचे लिखे मंत्र का जप करें-
🌷 श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:
➡ मंत्र का जप स्फटिक माला से ही करें। मंत्रोच्चार के साथ एक-एक चावल इस शंख में डालें। इस बात का ध्यान रखें की चावल टूटे हुए ना हो।  यह प्रयोग लगातार नौ दिनों तक करें। इस प्रकार रोज एक माला जप करें। उन चावलों को एक सफेद रंग के कपड़े की थैली में रखें और 9 दिन के बाद चावल के साथ शंख को भी उस थैली में रखकर तिजोरी में रखें। इस उपाय से घर की बरकत बढ़ सकती है।

👩🏻 5. मनचाही दुल्हन के लिए उपाय

गुप्त नवरात्रि के दौरान जो भी सोमवार आए। उस दिन सुबह किसी शिव मंदिर में जाएं। वहां शिवलिंग पर दूध, दही, घी, शहद और शक्कर चढ़ाते हुए उसे अच्छी तरह से साफ करें। फिर शुद्ध जल चढ़ाएं और पूरे मंदिर में झाड़ू लगाकर उसे साफ करें। अब भगवान शिव की चंदन, पुष्प एवं धूप, दीप आदि से पूजा करें।
➡ रात 10 बजे के बाद अग्नि प्रज्वलित कर ऊं नम: शिवाय मंत्र का उच्चारण करते हुए घी से 108 आहुति दें। अब 40 दिनों तक नित्य इसी मंत्र का पांच माला जप भगवान शिव के सामने करें। इससे शीघ्र ही आपकी मनोकामना पूर्ण होने के योग बनेंगे।

🤷🏻‍♂ 6. इंटरव्यु में सफलता का उपाय

गुप्त नवरात्रि  में किसी भी दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद सफेद रंग का सूती आसन बिछाकर पूर्व दिशा की ओर मुख करके उस पर बैठ जाएं। अब अपने सामने पीला कपड़ा बिछाकर उस पर 108 दानों वाली स्फटिक की माला रख दें और इस पर केसर व इत्र छिड़क कर इसकी पूजा करें।
➡ इसके बाद धूप, दीप और अगरबत्ती दिखाकर नीचे लिखा मंत्र 31 बार बोलें। इस प्रकार 11 दिन तक करने से वह माला सिद्ध हो जाएगी। जब भी किसी इंटरव्यु में जाएं तो इस माला को पहन कर जाएं। ये उपाय करने से इंटरव्यु में सफलता की संभावना बढ़ सकती है।
🌷 मंत्र- ऊं ह्लीं वाग्वादिनी भगवती मम कार्य सिद्धि कुरु कुरु फट् स्वाहा।

👨🏻👩🏻 7. दांपत्य सुख के लिए उपाय

यदि जीवनसाथी से अनबन होती रहती है तो गुप्त नवरात्रि  में रोज नीचे लिखी चौपाई को पढ़ते हुए 108 बार अग्नि में घी से आहुतियां दें। इससे यह चौपाई सिद्ध हो जाएगी। अब नित्य सुबह उठकर पूजा के समय इस चौपाई को 21 बार पढ़ें। यदि संभव हो तो अपने जीवनसाथी से भी इस चौपाई का जप करने के लिए कहें-
🌷 ​चौपाई
सब नर करहिं परस्पर प्रीति।
चलहिं स्वधर्म निरत श्रुति नीति।।

📖 * आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145*
           🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🙏🏻🌷🌻☘🌸🌹🌼🌺💐🙏🏻

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.asttrolok.com/index.php/welcome/register
read more

Daily Panchang for 03rd July 2019

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞

⛅ दिनांक 03 जुलाई 2019
⛅ दिन - बुधवार 
⛅ *विक्रम संवत - 2076 
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - वर्षा
⛅ मास - आषाढ़
⛅ पक्ष - शुक्ल 
⛅ तिथि - प्रतिपदा रात्रि 10:05 तक तत्पश्चात द्वितीया
⛅ नक्षत्र - आर्द्रा सुबह 06:37 तक तत्पश्चात पुनर्वसु
⛅ योग - ध्रुव सुबह 11:43 तक तत्पश्चात व्याघात
⛅ राहुकाल - दोपहर 12:31 से दोपहर 02:12 तक 
⛅ सूर्योदय - 06:01
⛅ सूर्यास्त - 19:23 
⛅ दिशाशूल - उत्तर दिशा में
⛅ *व्रत पर्व विवरण - 
💥 विशेष - प्रतिपदा को कूष्माण्ड(कुम्हड़ा, पेठा) न खाये, क्योंकि यह धन का नाश करने वाला है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 पुष्य नक्षत्र योग 🌷
➡ 04 जुलाई 2019 गुरुवार को सूर्योदय से रात्रि 02:30 तक गुरुपुष्यमृत योग है ।
🙏🏻 १०८ मोती की माला लेकर जो गुरुमंत्र का जप करता है, श्रद्धापूर्वक तो २७ नक्षत्र के देवता उस पर खुश होते हैं और नक्षत्रों में मुख्य हैं  पुष्य नक्षत्र, और पुष्य नक्षत्र के स्वामी हैं देवगुरु ब्रहस्पति | पुष्य नक्षत्र समृद्धि देनेवाला है, सम्पति बढ़ानेवाला है | उस दिन ब्रहस्पति का पूजन करना चाहिये | ब्रहस्पति को तो हमने देखा नहीं तो सद्गुरु को ही देखकर उनका पूजन करें और मन ही मन ये मंत्र बोले –
*ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |...... ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 कैसे बदले दुर्भाग्य को सौभाग्य में 🌷
🌳 बरगद के पत्ते पर गुरुपुष्य या रविपुष्य योग में हल्दी से स्वस्तिक बनाकर घर में रखें |

               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 गुरुपुष्यामृत योग 🌷
🙏🏻 ‘शिव पुराण’ में पुष्य नक्षत्र को भगवान शिव की विभूति बताया गया है | पुष्य नक्षत्र के प्रभाव से अनिष्ट-से-अनिष्टकर दोष भी समाप्त और निष्फल-से हो जाते हैं, वे हमारे लिए पुष्य नक्षत्र के पूरक बनकर अनुकूल फलदायी हो जाते हैं | ‘सर्वसिद्धिकर: पुष्य: |’ इस शास्त्रवचन के अनुसार पुष्य नक्षत्र सर्वसिद्धिकर है | पुष्य नक्षत्र में किये गए श्राद्ध से पितरों को अक्षय तृप्ति होती है तथा कर्ता को धन, पुत्रादि की प्राप्ति होती है |
🙏🏻 इस योग में किया गया जप, ध्यान, दान, पुण्य महाफलदायी होता है परंतु पुष्य में विवाह व उससे संबधित सभी मांगलिक कार्य वर्जित हैं | (शिव पुराण, विद्येश्वर संहिताः अध्याय 10)
               🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 गुप्त नवरात्रि 🌷 
🙏🏻 आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि 03 जुलाई 2019 बुधवार से शुरू हो रही हैं, जो 10 जुलाई 2019 बुधवार तक रहेंगी । नवरात्रि के इन 9 दिनों में देवी के विभिन्न रूपों की पूजा की जाती है। इन नौ दिनों में देवी को विभिन्न प्रकार के भोग भी लगाए जाते हैं। शास्त्रों के अनुसार, इस उपाय से साधक (उपाय करने वाला) की सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं। जानिए किस तिथि पर देवी को किस चीज का भोग लगाना चाहिए-

➡ ये हैं गुप्त नवरात्रि के अचूक उपाय
1⃣ प्रतिपदा तिथि को माता को घी का भोग लगाएं। इससे रोगी को कष्टों से मुक्ति मिलती हैं एवं शरीर निरोगी होता है।
2⃣ द्वितीया तिथि को माता को शक्कर का भोग लगाएं। इससे उम्र लंबी होती है।
3⃣ तृतीया तिथि को माता को दूध का भोग लगाएं। इससे सभी प्रकार के दुःखों से मुक्ति मिलती है।
4⃣ चतुर्थी तिथि को माता को मालपुआ का भोग लगाएं। इससे समस्याओं का अंत होता है।
5⃣ पंचमी तिथि को माता को केले का भोग लगाएं। इससे परिवार में सुख-शांति बनी रहती है।
6⃣ षष्ठी तिथि को माता को शहद का भोग लगाएं। इससे धन लाभ होने के योग बनते हैं ।
7⃣ सप्तमी तिथि को माता को गुड़ का भोग लगाएं। इससे हर मनोकामना पूरी हो सकती है।
8⃣ अष्टमी तिथि को माता को नारियल का भोग लगाएं। इससे  घर में सुख-समुद्वि आती है
9⃣ नवमी तिथि को माता को विभिन्न प्रकार के अनाज का भोग लगाएं। इससे वैभव व यश मिलता है।

📖आचार्य अरुणा दाधीच जन्मपत्री विशेषज्ञ जयपुर 9983974145 **
          🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🙏🏻🌷🍀🌼🌹🌻🌺💐🌸🙏🏻

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register
read more